Join Telegram Join Now
JAC Board App Install Now

Chapter 6: उष्मागतिकी

1. ऊष्मागतिकी अवस्था फलन एक राशि है?

  • जो ऊष्मा परिवर्तन के लिए प्रयुक्त होती है
  • जिसका मान पथ पर निर्भर नहीं करता है
  • जो दाब-आयतन कार्य की गणना करने में प्रयुक्त होती है
  • जिसका मान केवल ताप पर निर्भर करता है
उत्तर
जिसका मान पथ पर निर्भर नहीं करता है

2. सभी तत्वों की एन्चैल्पी उनकी सन्दर्भ-अवस्था में होती है-

  • इकाई
  • शून्य
  • <0
  • सभी तत्त्वों के लिए भिन्न होती है
उत्तर
शून्य

3. एक प्रक्रम के रुद्रोष्म परिस्थितियों में होने के लिए-

  • ∆T = 0
  • ∆p = 0
  • q = 0
  • w = 0
उत्तर
q = 0

4. जब निकाय को ऊष्मा (q) दी जाए तथा निकाय के द्वारा » कार्य किया जाए तो ऊष्मागतिकी के प्रथम नियम का गणितीय रूप होता है-

  • ∆E =q+w
  • ∆E =q-W
  • ∆E =-q+w
  • ∆E =-q-W
उत्तर
∆E =q-W

5. अभिक्रिया H2+Cl2 → 2HCl में ∆H = -194 kJ HCI की उत्पादन ऊष्मा है-

  • + 19 kJ
  • + 194 kJ
  •  – 194 kJ
  • – 97 kJ
उत्तर
– 97 kJ

6. किसी आदर्श गैस के समतापी प्रसार में-

  • आन्तरिक ऊर्जा घटती है
  • आन्तरिक ऊर्जा बढ़ती है
  • संपूर्ण ऊर्जा घटती है
  • आन्तरिक ऊर्जा स्थिर रहती है
उत्तर
आन्तरिक ऊर्जा स्थिर रहती है

7. 36.5 ग्राम HCI और 40 ग्राम NaOH के द्वारा उत्पन्न होने वाली उदासीनीकरण ऊष्मा का मान होगा-

  • 76.5 किलोकैलोरी
  • 12.7 किलोकैलोरी
  • शून्य
  • 13.7 किलोकैलोरी
उत्तर
13.7 किलोकैलोरी

8. एन्थैल्पी ∆H और आन्तरिक ऊर्जा ∆E में सम्बन्ध है?

  • ∆E = ∆H + P∆V
  • ∆E+∆V = ∆H
  • ∆H = ∆U+ P∆V
  • ∆H = ∆E-P∆V
उत्तर
∆H = ∆U+ P∆V

9. CH3COOH तथा NaOH की उदासीनीकरण ऊष्मा होती है-

  • -13.6 Kcal/mol
  • -13.6 Kcal/mol से अधिक ऋणात्मक
  • -13.6 Kcal/mol से कम ऋणात्मक
  • उपर्युक्त में से कोई नहीं
उत्तर
उपर्युक्त में से कोई नहीं

10. अभिक्रिया H2(g) + Cl2(g) → 2HCl(g) के एन्थैल्पी परिवर्तन, ∆H का मान – 68.4 Kcal है। इसका ऋण चिह्न प्रदर्शित करता है-

  • अभिकारकों की एन्थैल्पी से उत्पादों की एन्थैल्पी अधिक है
  • अभिकारकों की एन्थैल्पी से उत्पादों की एन्थैल्पी कम है
  • अभिक्रिया ऊष्माशोषी है
  • अभिक्रिया अग्र दिशा में नहीं होती है
उत्तर
अभिकारकों की एन्थैल्पी से उत्पादों की एन्थैल्पी कम है